2030

Tata Motors को पीछे छोड़ दूसरे स्थान पर पहुंची Hyundai, नंबर-1 पर Maruti Suzuki बरकरार

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) के आंकड़ों के अनुसार, डीलर्स को गाड़ियां डिस्पैच करने के मामले में जुलाई महीने में मारुति सुजुकी नंबर एक पर बरकरार है. कंपनी ने जुलाई 2022 में 1,42,850 यात्री कारें डिस्पैच कीं, जो साल भर पहले यानी जुलाई 2021 के 1,33,732 यूनिट की तुलना में 7 फीसदी ज्यादा है. भारतीय यात्री कार बाजार में हुंडई एक बार फिर से दूसरा स्थान कब्जाने में सफल रही है.




भारतीय कार बाजार (Indian Car Market) में विभिन्न कंपनियों के बीच ज्यादा से ज्यादा बाजार हिस्सेदारी कब्जाने की होड़ दिलचस्प हो गई है. यात्री कार बाजार (Passenger Car Market) की बात करें तो मारुति सुजुकी (Maruti Suzuki) अभी भी लंबे मार्जिन के साथ पहले स्थान पर बनी हुई है, लेकिन दूसरे स्थान के लिए टाटा मोटर्स (Tata Motors) और हुंडई (Hyundai) के बीच खींचतान चल रही है. जुलाई के आंकड़ों को देखें तो भारतीय यात्री कार बाजार में हुंडई एक बार फिर से दूसरा स्थान कब्जाने में सफल रही है.

लंबे मार्जिन के साथ मारुति नंबर-वन

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) के आंकड़ों के अनुसार, डीलर्स को गाड़ियां डिस्पैच करने के मामले में जुलाई महीने में मारुति सुजुकी नंबर एक पर बरकरार है. कंपनी ने जुलाई 2022 में 1,42,850 यात्री कारें डिस्पैच की, जो साल भर पहले यानी जुलाई 2021 के 1,33,732 यूनिट की तुलना में 7 फीसदी ज्यादा है. जुलाई महीने के दौरान कंपनी की बिक्री में भी तेजी देखने को मिली. हालांकि देश की सबसे बड़ी यात्री कार कंपनी का कहना है कि जुलाई महीने के दौरान उसके प्रोडक्शन पर चिप शॉर्टेज का कुछ असर पड़ा है. कंपनी ने कहा कि उसने चिप शॉर्टेज के असर को कम करने के लिए कई उपाय किए, जिससे फायदा भी मिला.

रिकॉर्ड ग्रोथ के बाद भी पिछड़ी टाटा मोटर्स

फाडा के आंकड़ों के अनुसार, टाटा मोटर्स ने जुलाई 2022 के दौरान सालाना आधार पर 57 फीसदी ग्रोथ दर्ज की, लेकिन इसके बाद भी जुलाई में हुंडई ने उसे पीछे छोड़ दिया और फिर से दूसरा स्थान हासिल कर लिया. हुंडई को मार्च 2021 के बाद पहली बार देश की दूसरी सबसे बड़ी यात्री कार कंपनी बनने का मौका मिला है. कंपनी ने जुलाई 2022 में 50,500 यात्री कारों की बिक्री की, जो साल भर पहले के 48,042 यूनिट से 5.1 फीसदी ज्यादा है. दूसरी ओर टाटा मोटर्स ने 47,505 यूनिट की बिक्री की, जो किसी भी एक महीने में उसके लिए अब तक की सबसे ज्यादा बिक्री है. इसके बाद भी टाटा मोटर्स को दूसरा पायदान गंवाना पड़ गया.

तेजी से बढ़ी इन कंपनियों की भी बिक्री

अन्य कंपनियों की बात करें तो महिंद्रा एंड महिंद्रा (Mahindra&Mahindra) की बिक्री 38 फीसदी बढ़कर 28,053 यूनिट पर पहुंच गई. किआ मोटर (Kia Motor) की बिक्री में 46.7 फीसदी का जबरदस्त इजाफा हुआ और आंकड़ा 22,022 यूनिट पर पहुंच गया. टोयोटा (Toyota) ने भी जुलाई महीने में बिक्री का रिकॉर्ड बनाया. इस दौरान टोयोटा की बिक्री 50 फीसदी बढ़कर 19,693 यूनिट पर पहुंच गई, जो किसी भी एक महीने में टोयोटा की सबसे ज्यादा बिक्री है. होंडा (Honda) की बिक्री 12 फीसदी बढ़कर 6,784 यूनिट पर पहुंच गई.

कम हुई MG Motor, Renault की बिक्री

फ्रांसीसी कार कंपनी रेनॉ (Renault) की बिक्री में इस दौरान गिरावट आई. कंपनी की बिक्री साल भर पहले के 9,787 यूनिट से 27 फीसदी कम होकर 7,128 यूनिट पर आ गई. एमजी मोटर इंडिया (MG Motor India) की बिक्री में भी इस दौरान ठीक-ठाक गिरावट देखने को मिली. कंपनी ने पिछले साल जुलाई में 4,225 यूनिट की बिक्री की थी, जो जुलाई 2022 में 5 फीसदी कम होकर 4,013 यूनिट पर आ गई. वहीं स्कोडा (Skoda) की यात्री कारों की बिक्री 44 फीसदी की छलांग लगाकर 4,447 यूनिट पर पहुंच गई.


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ