Breaking News

ममता बनर्जी- बंगाल में शानदार जीत, सांप्रदायिक सौहार्द को बचाए रखने की लड़ाई की विजय है

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस की शानदार जीत को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को सांप्रदायिक सौहार्द को बचाए रखने की अपनी लड़ाई की जीत बताई। अपनी पार्टी को राज्य में भारी जीत दिलाने वाली ममता बनर्जी को खुद नंदीग्राम सीट पर हार का मुंह देखना पड़ा। निर्वाचन आयोग के मुताबिक बीजेपी के सुवेंदु अधिकारी ने उन्हें 1736 मतों से हराया। सीट पर परिणाम की घोषणा से पहले ही बनर्जी ने शाम को कहा था कि वह जनादेश का स्वागत करेंगी।


IPL 2021: पिच पर जब रेस करने लगे पंजाब के बल्लेबाज! देखें वायरल वीडियो

ममता ने कहा कि लेकिन मुझे लगता है कि मेरी जीत की खबर आने के बाद कुछ गड़गड़ी हुई है। इसके बाद सुनने में आया कि परिणाम बदल गया। मैं इस मुद्दे पर अदालत जाऊंगी। नंदीग्राम में स्थिति को लेकर ममता बनर्जी कुछ निराश हैं। सिर्फ नंदीग्राम सीट से चुनाव लड़ रही ममता बनर्जी ने कहा कि उन्होंने अपनी परंपरागत सीट भवानीपुर से चुनाव ना लड़कर नंदीग्राम से चुनाव लड़ा था क्योंकि यहीं से उन्होंने कृषि भूमि अधिग्रहण के खिलाफ आंदोलन शुरू किया था।

'जो भी जनादेश होगा, मुझे स्वीकार्य होगा'

उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि नंदीग्राम के लोगों को तय करने दें। उनका जो भी जनादेश होगा, मुझे स्वीकार्य होगा। लेकिन हमारी (तृणमूल कांग्रेस) जीत शानदार है और इसके लिए राज्य की महिलाओं, युवाओं, अल्पसंख्यकों ने वोट दिया है। बनर्जी ने कहा कि बीजेपी के डबल इंजन सरकार के वादे के बावजूद उन्होंने कुल 294 सीटों में 221 सीटों पर जीत का लक्ष्य रखा था और परिणाम आने के बाद उन्होंने जनता को शानदार जीत के लिए धन्यवाद दिया।

जब इंटरव्यू में नरगिस को सामने देख नर्वस हो गए थे सुनील दत्त, खतरे में पड़ गई थी नौकरी

'करीब दो महीने बाद खड़े होकर बनर्जी ने किया संबोधन'

करीब दो महीने बाद खड़े होकर बनर्जी ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि मैं जनता को देश और सांप्रदायिक सौहार्द की रक्षा करने के लिए धन्यवाद देती हूं। मुझे बंगाल पर गर्व है। यह शानदार जीत है, इसपर कोई कुछ नहीं कह सकेगा। उन्होंने (बीजेपी) 200 सीटें जीतने का दावा किया था। क्या इसके बाद वे अपना चेहरा दिखा सकेंगे? बनर्जी ने आशा जतायी कि भाजपा को हर जगह ऐसी ही हार का सामाना करना पड़े। बनर्जी ने कहा कि यहां आकर हमारे खिलाफ प्रचार करने वाले केन्द्रीय नेताओं को विनम्र नमस्कार। उन लोगों को भी जो अन्य जगहों से आए और हमारे खिलाफ प्रचार किया।

स्रोत-नवभारत टाइम्स 

आपका Troopel टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां