2030

6 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट: 3 दिन में 207 करोड़ का नुकसान, 1337 करोड़ रुपए की सरकारी और निजी संपत्ति को नुकसान



 मध्यप्रदेश, राजस्थान, उत्तरप्रदेश, हिमाचल, बिहार और छत्तीसगढ़ में पिछले 48 घंटे से भारी बारिश हो रही है। राजस्थान में 200 और मध्यप्रदेश में करीब 50 छोटे-बड़े डैम ओवरफ्लो हो गए हैं। उधर, उत्तरप्रदेश में गंगा खतरे के निशान के ऊपर बह रही है। बिहार में ये खतरे के निशान के करीब है। हिमाचल प्रदेश में फ्लैश फ्लड और लैंड स्लाइड की 36 घटनाओं में 22 लोगों की जान चली गई है।

इन सभी राज्यों में मंगलवार के लिए भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। यानी अगले 48 घंटे बारिश से राहत मिलने के आसार नहीं हैं।

अब देश के अन्य राज्यों में बारिश की स्थिति जान लीजिए…

भोपाल में 36 घंटे में ही 14.18 इंच से ज्यादा बारिश

मध्यप्रदेश में पिछले 48 घंटों से बारिश हो रही है। सबसे ज्यादा भोपाल में हुई। 16 साल बाद अगस्त में एक दिन की सबसे ज्यादा बारिश हुई। राजधानी में रविवार सुबह 8:30 बजे से लेकर सोमवार रात 8:30 बजे तक 36 घंटे में ही 14.18 इंच से ज्यादा बारिश हो गई। इसे मिलाकर राजधानी में अब तक 66.50 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है। यह सीजन के कोटे की 42 इंच बारिश से 23 इंच ज्यादा है। इसने अगले मानसून सीजन की भी आधी जरूरत पूरी कर दी है।


सिर्फ भोपाल में ही ऐसी तूफानी बारिश क्यों?

बंगाल की खाड़ी से चला सिस्टम डिप्रेशन में बदलकर ओडिशा, झारखंड, छग होता हुआ रविवार से दमोह-सागर के बीच ठहर गया था। इसका सबसे ज्यादा असर भोपाल के आसपास हुआ।

अगले 24 घंटे में क्या होगा: मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में प्रदेशभर में मूसलाधार बारिश का अलर्ट जारी किया है। भोपाल, ग्वालियर और उज्जैन संभाग में 5 इंच या इससे ज्यादा पानी गिर सकता है। बुधवार से ज्यादा राहत मिलने की संभावना है। अगस्त के आखिरी दिनों में हल्की बारिश का एक दौर आने की संभावना है। इसके बाद सितंबर में भी बारिश के एक या दो दौर आ सकते हैं। मानसून की विदाई 30 सितंबर के बाद ही संभव है।


राजस्थान: सीजन में 20.35 इंच बारिश, रेड अलर्ट जारी

राज्य में पिछले 48 घंटे हुई बारिश के चलते सीजन की 20.35 इंच बारिश हो चुकी है। कोटा में 20.47 इंच बारिश हुई। आंकड़ों के लिहाज से ये 25.80% ज्यादा है। सभी जिलों में औसत से ज्यादा बारिश हुई है। पिछले 24 घंटे में गिरे पानी की वजह से 716 छोटे-बड़े बांधों में से 200 से ज्यादा ओवरफ्लो हो चुके हैं। राजधानी जयपुर की बात करें तो सीजन की बारिश का कोटा पूरा हो चुका है। यहां सीजन में 19.78 इंच बारिश होती है, जबकि 19.79 इंच बारिश हो चुकी है।

अगले 24 घंटे में क्या होगा: आने वाले 2 दिनों के लिए भी राजस्थान में अलर्ट है। 23 अगस्त को उदयपुर, सिरोही, पाली, जालोर, बाड़मेर, जैसलमेर में बारिश का ऑरेंज अलर्ट है। डूंगरपुर, राजसमंद, नागौर,जोधपुर में भारी बारिश का यलो अलर्ट है। 24 अगस्त को जैसलमेर, बाड़मेर, जालोर, जोधपुर में भी यलो अलर्ट है।

टोंक में 12 घंटे में रिकॉर्ड 7 इंच बारिश

टोंक शहर में सोमवार को 9 साल बाद 7 इंच से अधिक (180MM) बारिश हुई। इससे शहर की कुछ कॉलोनियों में पानी भर गया। सड़कें दरिया बन गईं। जिले में बरसाती नाले में बहने से पति-पत्नी की मौत हो गई। खेत पर जाने के लिए दोनों नाला पार कर रहे थे। वहीं, उदयपुर में बाइक से पुलिया पार कर रहे दो युवक बह गए। दोनों की तलाश की जा रही है।

छत्तीसगढ़: हाईवे पर चट्टानें गिरीं, MP से संपर्क कटा

छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में लगातार हो रही बारिश ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। भारी बारिश के चलते गौरेला-पेंड्रा-मरवाही से करीब 15 किमी आगे मध्य प्रदेश के अनूपपुर में लैंडस्लाइड होने से सड़क क्षतिग्रस्त हो गई है। इसके चलते 15 से 20 ट्रक फंस गए हैं। वहीं राजेंद्रग्राम-अमरकंटक को जोड़ने वाले किरर मार्ग पर रीटेनिंग वॉल सहित सड़क बह गई है। इसके बाद आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया है।

बिहार: 20 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

पहाड़ी इलाकों में बारिश के चलते बिहार के कई जिलों में नदियां उफान पर हैं। नदियों के किनारों बसे गांवों को अलर्ट जारी किया गया है। कई जिलों में गंगा खतरे के निशान के करीब पहुंच गई है। पिछले 24 घंटे में पटना समेत कई जिलों में बारिश के चलते मौसम में राहत मिली है।

अगले 24 घंटे में क्या होगा: 20 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। अगले 24 घंटे में तेज हवा और बिजली गिरने की आशंका है।

 मौसम विभाग ने लोगों को सावधान और सतर्क रहने की सलाह दी है

हिमाचल: 3 दिन में 207 करोड़ का नुकसान

हिमाचल प्रदेश में बीते 48 घंटे की बारिश ने जान और माल दोनों को भारी नुकसान पहुंचाया है। बीते तीन दिन में 207 करोड़ रुपए से ज्यादा की संपत्ति तबाह हुई है। पूरे मानसून सीजन में 1337 करोड़ रुपए की सरकारी और निजी संपत्ति को नुकसान हो गया है।

हिमाचल में बीते तीन दिन में बाढ़, बादल फटने, भूस्खलन और चट्‌टानें खिसकने की 36 घटनाओं में 23 लोगों की मौत हो चुकी है।

अगले 24 घंटे में क्या होगा: मौसम विभाग ने ताजा बुलेटिन में मंगलवार को यलो अलर्ट की चेतावनी को टाल दिया है, लेकिन 24 और 25 अगस्त को फिर से भारी बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है। राज्य के कई क्षेत्रों में इस दौरान बारिश हो सकती है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ