Breaking News

अच्छी खबर: महामारी के बीच मनरेगा ने दिया 10 करोड़ श्रमिकों को रोजगार

जहां एक तरफ वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कारण समूचा देश अर्थव्यवस्था की मंदी में डूबा है तो वहीं राष्ट्रीय ग्रामीण गारंटी योजना (NREGS) का लाभ उठाने वाले श्रमिकों की संख्या में भयंकर उछाल देखने को मिला है। NREGS ने पहली बार 10 करोड़ का आंकड़ा पार किया है। 

राष्ट्रीय ग्रामीण गारंटी योजना पोर्टल पर मौजूद ताजा आंकड़ों की मानें तो चालू वित्त वर्ष में 10 जनवरी तक देशभर में 10 करोड़ से अधिक श्रमिकों ने योजना के तहत काम किया है, जो 2019-2020 के लिए 7.89 करोड़ की तुलना में 21 फीसदी अधिक है। गौरतलब है कि अभी चालू वित्त वर्ष में दो महीने का समय बचा हुआ है, जिसमें इस आंकड़े में और अधिक सुधार होने की उम्मीद है। 

बता दें कि 2006 में योजना की शुरुआत के बाद से 10 करोड़ की संख्या सबसे अधिक है। इससे पहले सबसे ज्यादा संख्या 2011-12 में थी, जब 8.2 करोड़ लोगों ने इस योजना का लाभ उठाया था। मनरेगा के तहत हर ग्रामीण परिवार से एक वयस्क सदस्य को वित्तीय वर्ष में कम से कम 100 दिन का काम मिलता है। मौजूदा वित्त वर्ष में इस योजना का लाभ उठाने वाले परिवारों की संख्या 6.87 करोड़ रही है। इससे पहले 2019-2020 में 5.48 करोड़ परिवारों ने इस योजना का लाभ उठाया था। 

मनरेगा के तहत खर्च अपने अब तक के सबसे उच्च स्तर पर पहुंच गया है. इस योजना के लिए आवंटित किए गए 1 लाख करोड़ रुपए में से 87,520 करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं.

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां