IRPRA

भारतीय डाक विभाग की ओर से आजादी का 75 वां महोत्सव और राष्ट्रीय डाक सप्ताह मनाया जा रहा है


भारतीय डाक विभाग की ओर से आजादी का 75 वां महोत्सव और राष्ट्रीय डाक सप्ताह मनाया जा रहा है। कार्यक्रम के तहत नवादा डाक मंडल की ओर से एक डिजिटल रथ निकाला गया है। इसके तहत वीडियो संदेश से पुराने से नए दौर के डाकघर को दर्शाया गया है।

भारतीय डाक विभाग की ओर से आजादी का 75 वां महोत्सव और राष्ट्रीय डाक सप्ताह मनाया जा रहा है। कार्यक्रम के तहत नवादा डाक मंडल की ओर से एक डिजिटल रथ निकाला गया है। इसके तहत एक वीडियो संदेश के माध्यम से पुराने डाकघर से लेकर नए दौर के डाकघर को दर्शाया जाता है। साथ ही डाकघर के कार्यों को सरल तरीके से समझाया जाता है। बेटियाें को सबल बनाने, आर्थिक स्थिति काे मजबूत बनाने आदि की जानकारी दी जा रही है।

अब पोस्‍टमैन भी हो गए हैं हाइटेक  

वीडियो के माध्यम से आमजनों को बताया जा रहा है कि पोस्टमैन भी पुराने जमाने के पोस्टमैन नहीं रहे। वे हाईटेक हो गए हैं। पोस्टमैन के पास इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक का साथ है। वे मोबाइल ऐप से पैसे की डिलीवरी भी कर रहे हैं। नवादा डाक मंडल में रथ संचालन के लिए शंकर कुमार एवं जितेंद्र कुमार को लगाया गया है। इसी कड़ी मेंं डाक सप्ताह के पहले दिन बैकिंग दिवस के अवसर पर पूर्वी प्रक्षेत्र बिहार डाक निदेशक पवन कुमार ने प्रधान डाकघर नवादा से बेटियों को सबल बनाने के उद्वेश्य से सुकन्या जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। साथ ही सुकन्या खाता खोलने के लिए विशेष काउंटर का उद्धाटन किया। निदेशक ने कहा कि बेटियों को सबल बनाना डाक विभाग का लक्ष्य है। यह रथ नवादा के शहरी व ग्रामीण इलाके में घूम-घूमकर लोगों को सुकन्या खाता खोलने की जानकरी देगा। 

10 हजार बेटियों का खाता खोेलने का है लक्ष्य

कार्यक्रम के दौरान डाक अधीक्षक शिवशंकर ने बताया कि नवादा डाक मंडल की ओर से 11 से 17 अक्टूबर तक डाक सप्ताह मनाया जाएगा। नवादा डाक मंडल के तहत जिले में 10 हजार बेटियाें का सुकन्या खाता खोलने का लक्ष्य रख गया है। डाक निदेशक पवन कुमार के निर्देशन में सभी डाकघर में सुकन्या खाता खोलने के लिए विशेष काउंटर की व्यवस्था की गई है। साथ ही बेटियों को सबल बनाने के उद्वेश्य से सुकन्या जागरूकता रथ निकाला गया है।  

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ