Jr jagjit Singh

ट्रूपल डॉट कॉम (Troopel.com) द्वारा भारत के रीजनल पीआर अवॉर्ड्स 2021 (IRPRA) 40 अंडर 40 नॉमिनेशन का आगाज़


 23 अक्टूबर 2021 को होने जा रहा है भारत के पहले रीजनल पीआर अवॉर्ड्स का आयोजन

इंदौर, 24 सितंबर, 2021: कोविड ने देश-दुनिया के साथ ही कम्युनिकेशन्स इंडस्ट्री को बुरी तरह झकझोर कर रख दिया है। मेट्रो से टियर 2/3 शहरों की तरफ रुख करते लोगों और ब्रांड्स ने रीजनल कम्युनिकेशन बार को कई पायदान ऊपर चढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। विशेष रूप से रीजनल एजेंसीज़ के पीआर प्रोफेशनल्स ने भी यह बात मानी है कि ब्रांड से लेकर मीडिया हाउस तक कम्युनिकेशन निर्बाध रूप से होना आवश्यक है, ताकि ब्रांड्स की सेल्स तथा सर्विसेस को किसी प्रकार की बाधा का सामना करना पड़े। पब्लिकेशन संबंधी चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए, पीआर प्रोफेशनल्स ने इसे सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। भारत के सबसे तेजी से बढ़ते सोशल ऑनलाइन प्लेटफॉर्म ट्रूपल डॉट कॉम (Troopel.com ) द्वारा इन प्रोफेशनल्स द्वारा किए गए सराहनीय कार्य को प्रखरता से लेकर इसका मूल्यांकन करने के उद्देश्य से आज भारत के रीजनल पीआर अवॉर्ड्स 2021 (IRPRA) 40 अंडर 40 के लिए नॉमिनेशन की घोषणा की गई है।

 

रीजनल पीआर ने हमेशा ही बिज़नेस तथा एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और यह इस सेक्टर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है। असंख्य कारकों को ध्यान में रखते हुए रीजनल पीआर प्रोफेशनल्स, ब्रांड की पहचान और विकास को अधिकतम करने के लिए निरंतर कार्यरत हैं। IRPRA का उद्देश्य इन प्रोफेशनल्स को विभिन्न श्रेणियों में सम्मानित करना है। इन्हें प्रथमतया 8 श्रेणियों को वर्गीकृत किया गया है और आगे क्रमशः पांच जोन्स- ईस्ट, वेस्ट, नॉर्थ, साउथ और सेंट्रल में विभाजित किया जाएगा। नॉमिनेशंस के लिए वर्गीकृत श्रेणियां इस प्रकार हैं:

 

1. सीएसआर में एक्सीलेंस के लिए अवॉर्ड

2. बेस्ट क्रिएटिव एंटरटेनमेंट कैंपेन के लिए अवॉर्ड

3. बिज़नेस के लिए लीडिंग पीआर क्रिएटिव कैंपेन

4. स्टार्टअप कैटेगरी के लिए लीडिंग पीआर कैंपेन

5. क्राइसिस कम्युनिकेशन्स के लिए बेस्ट पीआर कैंपेन

6. लोकल ब्रांड पीआर कैंपेन में एक्सीलेंस

7. रूरल एरिया पीआर कैंपेन में एक्सीलेंस

8. पीएसयू/गवर्नमेंट पीआर कैंपेन में एक्सीलेंस

 

IRPRA 2021 का आयोजन 23 अक्टूबर 2021 को होने जा रहा है और इसके नॉमिनेशन्स 25 सितंबर से 10 अक्टूबर 2021 तक किए जाएँगे। रजिस्ट्रेशन्स तथा नॉमिनेशन्स पूर्णतया निःशुल्क है। आवेदकों के लिए क्राइटेरिया 40 वर्ष की आयु के रूप में उल्लेखित है, और साथ ही वे भारत के भौगोलिक क्षेत्र के पीआर और कॉर्पोरेट कम्युनिकेशन के प्रति अभ्यासरत होना चाहिए।

 

पवन त्रिपाठी, ब्रांड मैनेजर Troopel.com कहते हैं, "हम IRPRA अवॉर्ड्स के पहले संस्करण की घोषणा करते हुए बेहद उत्साहित महसूस कर रहे हैं, क्योंकि रीजनल पीआर लम्बे समय से अपरिचित बना हुआ है। विशेष रूप से वर्तमान पोस्ट कोविड मार्केट के साथ रीजनल टेरिटरीज़ और टियर 2/3 मार्केट्स में विस्तार के साथ हमें लगता है कि रीजनल पीआर को एक लंबा रास्ता तय करना है। ये अवॉर्ड्स उन प्रयासों को मद्देनज़र रखते हुए सार्थक बनाने और देश में रीजनल पीआर प्रोफेशनल्स की सराहना का एक अद्भुत माध्यम है।"

 

IRPRA के पहले संस्करण के लिए जूरी में अत्यंत वरिष्ठ पीआर प्रोफेशनल्स, जर्नलिस्ट्स तथा कॉर्पोरेट कम्युनिकेशन्स स्पेशलिस्ट्स जैसे रॉय पॉल (एसोसिएट वाईस प्रेसिडेंट, कॉर्पोरेट ब्रांड कस्टडियन, अदाणी ग्रुप), कविता लखानी (डायरेक्टर ऑपरेशन्स- वेबर शैंडविक), जयदीप चौधरी (कॉर्पोरेट अफेयर्स तथा कम्युनिकेशंस हेड- दीपक ग्रुप कंपनी), सुनीता सुब्रमणियन (कम्युनिकेशन्स तथा डिजिटल मार्केटिंग, टैफे), कृष्णा सोलंकी (डायरेक्टर कॉर्पोरेट कम्युनिकेशन पब्लिसिस मीडिया, पब्लिसिस ग्रुप), अतुल टकले (सीनियर एडवाइज़र, पीआर 24x7), मुकेश एस सिंह (न्यूज़ एडिटर) कम चीफ रिपोर्टर, हितवादा), भास्कर मजूमदार (हेड- कॉर्पोरेट अफेयर्स, कम्युनिकेशंस, सीएसआर, डिजिटल, ईजीआईएस इंडिया) आदि शामिल हैं।

IRPRA का उद्देश्य अगली पीढ़ी के पीआर और कम्युनिकेशन लीडर्स को बेहतर पहचान दिलाना है, जो अपने रचनात्मक विचारों और अनुकरणीय प्रदर्शन के माध्यम से रीजनल पीआर क्षेत्र को आकार दे रहे हैं। यदि आप भी एक कुशल पीआर प्रैक्टिशनर हैं, तो आपके लिए इस क्षेत्र में बड़ी जीत हासिल करने का यह सबसे अच्छा मौका है।

Troopel.com के बारे में:

ट्रूपल देश का सबसे तेजी से बढ़ता सोशल ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है, जो मुख्य रूप से राजनीतिक, बुनियादी ढांचे और सामाजिक मुद्दों जैसे उज्जैन पवित्र नगरी, आत्म निर्भर युवा और करियर खोज आदि पर केंद्रित है। यह मुख्य रूप से अपने दर्शकों के सामने सच्चाई और तथ्यों को उजागर करने के लिए प्रतिबद्ध है। ट्रूपल राजनेताओं के विकास कार्यों को डिजिटल रूप से रेट करने वाला देश का पहला न्यूज़ कम व्यूज़ प्लेटफॉर्म बन गया है। यह प्लेटफॉर्म किसी खबर विशेष के पीछे की सच्चाई को उजागर करने की दिशा में काम कर रहा है। 25 मिलियन लोगों तक पहुँच के साथ इसकी मौजूदगी करीब 40 शहरों में है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ