Categories, unlike tags, can have a hierarchy. You might have a Jazz category, and under that have children categories for Bebop and Big Band. Totally optiona Categories, unlike tags, can have a hierarchy. You might have a Jazz category, and under that have children categories for Bebop and Big Band. Totally optiona Categories, unlike tags, can have a hierarchy. You might have a Jazz category, and under that have children categories for Bebop and Big Band. Totally optiona

किसानों को मिल रही सिर्फ राजनीति

#Shan-E-Kisaan Farmer Trandtropel

भारत में कभी अर्थव्यस्था के केंद्र रहे किसान अब राजनैतिक मुद्दा भर बन कर रह गए है l कभी किसान अपनी समस्याओ से लड़ते हुए आत्महत्या कर लेते है तो कभी हार कर अपनी खेती बाड़ी बेचने पर विवश हो जाते है l जाने कितनी सरकार आयी और गयी मगर बदहाल किसान की मुश्किलें कभी कम नहीं हुई l
किसान की मुश्किलों से सरकार का कोई वास्ता नहीं है l या यूँ भी कह सकते है की शायद कोई भी इनकी मुश्किलें खत्म नहीं करना चाहता क्युकी राजनैतिक दलों के लिए किसान मात्र वोट बैंक है l उनके लिए अनेकोनेक योजनाएं, सैकड़ों घोषणाएं, मगर फायदा शुन्य l हमारे देश के अन्नदाता को भड़का कर उन्हें बरगला कर तो कभी उनके आंसुओ और लाशों पर खड़े रहकर बस की जा रही है तो राजनीति l
भारत एक कृषिप्रधान देश है तो फिर क्यों हमारे ही देश का अन्नदाता भूखा है और मजबूर है l इस बात के जवाब में हम अक्सर कह देते है कि हमारे देश का किसान पढ़ा-लिखा नहीं है l वह समय के साथ अपनी नीतियों में खेती के तरीकों में बदलाव नहीं करता l मगर सवाल तो अब भी वहीँ है कि आखिर क्यों ? अगर किसान अनपढ़ है तो क्यों ? अगर किसान मजबूर है तो क्यों ? क्यों सरकार उनकी पढाई खेती के उन्नत तरीको को सीखने के विषय में नहीं सोचती l
किसान की कर्जमाफी पर किये गए खर्च से ज्यादा बेहतर होता की सरकार किसान को खेती के नए आयाम, नए ज़माने की खेती और वैज्ञानिक ढंग से खेती करना सिखाती l ऐसा करने पर उन पर किया गया खर्च ज्यादा उपयोगी होगा l उनके लिए प्रशिक्षण शिविर लगाए जाने चाहिए l राजनैतिक रोटियां सेंकने के लिए उन्हें कमज़ोरी का एहसास दिलाने से बेहतर होगा, किसानों को जागरूक बनाने के प्रयास किये जाए l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

*

Lost Password