Categories, unlike tags, can have a hierarchy. You might have a Jazz category, and under that have children categories for Bebop and Big Band. Totally optiona Categories, unlike tags, can have a hierarchy. You might have a Jazz category, and under that have children categories for Bebop and Big Band. Totally optiona Categories, unlike tags, can have a hierarchy. You might have a Jazz category, and under that have children categories for Bebop and Big Band. Totally optiona

संगीता घोष अपने आगामी शो ‘दिव्य दृष्टि’ को प्रोमोट करने के लिये इंदौर पहुंची

Entertainment

इस शो में वह पिशाचिनी की भूमिका में नज़र आयेंगी

इंदौर, 7 मार्च 2019 : पूरी दुनिया में लोग अपने भविष्‍य के बारे में जानने के लिये उत्‍सुक रहते हैं। अपनी किस्‍मत को बदलने के लिये कुंडली से लेकर टैरो कार्ड रीडिंग तक सबकुछ आजमाते हैं, बुरी शक्तियों को दूर करने के लिये अंगूठी तक पहनते हैं। उनके भविष्‍य में क्‍या है उसे जानना चाहते हैं और उस होनी को टालना चाहते हैं। स्‍टारप्‍लस की नयी प्रस्‍तुति ‘दिव्‍य दृष्टि’ में कुछ ऐसी ही कहानियां बयां की गई है। यह दो बहनों की एक खूबसूरत कहानी है, जिन्‍हें अद्भत शक्तियां मिली हुई हैं, जिससे वे भविष्‍य देख सकती हैं और उन्‍हें बदल सकती हैं। 

सबसे बड़ी ताकत से नवाजी गयी इन दो बहनों के पास सुपर पावर्स हैं, जोकि अनहोनी को बदल सकती हैं। नायरा बनर्जी और सना सईद द्वारा अभिनीत दिव्‍य और दृष्टि के पास अलग-अलग तरह की शक्तियां हैं, जो उन्‍हें खास बनाती हैं। हालांकि, उनकी किस्‍मत में कुछ और ही लिखा होता है और बचपन में ही दोनों बिछड़ जाती हैं। जब शक्तियों की बात आती है तो वह उसी स्थिति में सबसे प्रबल होंगी जब दोनों साथ होंगे! इसलिये, हर पूर्णिमा की रात दोनों एक-दूसरे को ढूंढने के लिये निकलती हैं। भगवान शिव की तरह दृष्टि की तीसरी आंख है जोकि उसे भविष्‍य को देखने में मदद करती है। यह इस बात का प्रतीक है कि आगे क्‍या होने वाला है! दृष्टि को शिव भक्ति और आराधना के फल स्‍वरूप एक रौशनी नज़र आती है और वह इस सोच में पड़ जाती है कि इसका मतलब क्‍या है? 

फायरवर्क्‍स प्रोडक्‍शंस और मुक्‍ता धोंड द्वारा निर्मित, ‘दिव्‍य दृष्टि’ जुड़वां बहनों दिव्‍य और दृष्टि की कहानी कहता है, लेकिन बदकिस्‍मती से दोनों अलग हो जाती हैं। लेकिन फिर से एक होने की उम्‍मीद उन्‍हें आगे बढ़ा रही है। सुपर पावर्स के साथ जन्‍मी दृष्टि आने वाले कल को देख सकती है और वहीं दूसरी तरफ दिव्‍य उन्‍हें बदल सकती है! दोनों ही बहनें हर पूर्णिमा की रात एक होने की कोशिश करती हैं और अब आखिरकार एक ही घर में रह रही हैं। हालांकि, उन दोनों को एक-दूसरे की उपस्थिति का पता नहीं है और वे दुनिया को बचाने के लिये अपनी सुपरपावर्स का इस्‍तेमाल करती हैं और एक-दूसरे को ढूंढने की कोशिश कर रही हैं। उन दोनों की शक्तियां के एकसाथ आने से उन पर फिर से खतरा मंडरा रहा है और पिशाचिनी उन तक पहुंचने के लिये हर संभव प्रयास करती है।

दूसरी तरफ एक दुष्‍ट चुड़ैल, पिशाचिनी है, जिसके पास एक शक्तिशाली कटार और एक खोखली आंख है । जानी-मानी अभिनेत्री संगीता घोष इस शो में पिशाचिनी की भूमिका निभाती नजर आयेंगी। किसी घटना के बाद दृष्टि, पिशाचिनी की कुदृष्टि का शिकार हो जाती है। दृष्टि को यह रहस्‍य डराता है कि क्‍या भगवान से उसे वाकई वरदान मिला है या फिर अभिशाप है।  

पिशाचिनी की भूमिका निभाने को लेकर बेहद उत्‍साहित संगीता घोष ने कहा, ”इस शो का कॉन्‍सेप्‍ट अनूठा है और दूसरी ओर मेरा किरदार भी काफी दिलचस्‍प है। यह सुपर पावर्स की एक असाधारण कहानी लेकर आया है, जिसे इससे पहले कभी भी छोटे पर्दे पर नहीं दिखाया गया है। इस शो में पिशाचिनी की भूमिका निभाने को लेकर मैं बेहद उत्‍साहित हूं, जिसने दृष्टि के सपनों में आकर उसे भ्रमित कर दिया है। इंदौर आकर और यहां के स्‍वादिष्‍ट स्‍ट्रीट फूड एवं पोहा खाकर मुझे बहुत खुशी हो रही है ।”

देखिये ‘दिव्‍य  दृष्टि’ प्रत्‍येक शनिवार-रविवार, शाम 7 बजे केवल स्‍टारप्‍लस पर!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

*

Lost Password