2030

गांव के लड़के ने बना दी वेबसाईट, बेरोजगार दोस्तों को दे रहे हैं रोजगार



गुना |  कविड काल के वो दो साल जब लॉक डॉउन के चलते हजारों और लाखों लोगों को नौकरियों से हाथ धोना पड़ा था ऐसे ही शिवपुरी जिले के एक छोटे से गांव में रहने वाले शख्स हैं राजदीप रघुवंशी, जिन्हें लॉक डॉउन के दौरान अपनी नौकरी छोड़नी पड़ी थी पर अब वह उन हजारों लोगों के लिए प्रेरणस्रोत हैं जो कि लॉक डॉउन के दो साल बाद भी कहीं न कहीं बेरोजगारी से जूझ रहे हैं।

राजदीप रघुवंशी ने गांव में रहकर ही बिना किसी एकेडमिक एजुकेशन के इंटरनेट से सीखकर वेबसाइट बनाना सीख लिया और अब वह इससे खुद तो पैसे कमाते ही हैं साथ ही अपने कुछ बेरोजगार दोस्तों की भी यह काम करना सीखा रहे हैं।

हमनें राजदीप रघुवंशी के गांव जाकर उनसे खुद बात कि तो उन्होंने बताया कि वह कुछ ऑनलाईन न्यूज़ वेबसाइट चलाते हैं और साथ में सोशल मीडिया पर कुछ कॉरपोरेट क्लाइंट्स की प्रोफ़ाइल मैनेज करते हैं । इससे वह स्वयं तो कमाते ही है साथ ही अपने कुछ बेरोजगार मित्रों को भी काम सीखकर रोजगार देने का काम कर रहे हैं।


राजदीप रघुवंशी से हमने पूछा कि यह काम करने का विचार उन्हें कैसे आया तो उन्होंने बताया कि इंदौर में वह एक पब्लिक रिलेशन कंपनी में हिंदी कंटेंट राइटर की जॉब करते थे वहीं की थोड़ी समझ से उन्होंने यूट्यूब पर वेबसाइट बनाना सीख लिया फिर अपने दोस्तों के साथ मिलकर घर से ही काम करना शुरू कर दिया । बता दें कि राजदीप रघुवंशी www.gunasamachar.com के फाउंडर और editor in chief है.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ