Add your advertisement code to the right of the logo on desktop displays.
Categories, unlike tags, can have a hierarchy. You might have a Jazz category, and under that have children categories for Bebop and Big Band. Totally optiona Categories, unlike tags, can have a hierarchy. You might have a Jazz category, and under that have children categories for Bebop and Big Band. Totally optiona Categories, unlike tags, can have a hierarchy. You might have a Jazz category, and under that have children categories for Bebop and Big Band. Totally optiona

National Politics

“डिजिटल इंडिया की वोटिंग भी अब होगी डिजिटल”

जैसा की हम जानते है की भारत की वर्तमान सरकार (मोदी सरकार) द्वारा 2 जुलाई 2015 को “डिजिटल इंडिया” प्रोजेक्ट शुरू किया गया था जिस प्रकार मोदी सरकार द्वारा डिजिटल इंडिया एक छत्र अभियान की शुरुवात की गई थी उससे जन सामान्य के जीवन में कई बदलाव आये है और लोग आधुनिक प्रणालियों से जुड़े है जिससे कहा जा सकता कुछ प्रतिशत हमारा देश और आधुनिक हो चला है इसी के साथ साथ सरकार द्वारा बनाई गयी कई नीतियों का आकलन हो...

राफेल डील में किसको मिलेगा कितना पैसा? एक बार में समझें पूरा गणित

राफेल डील को लेकर बीजेपी और कांग्रेस के बीच घमासान जारी है. इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट से केंद्र सरकार को क्लीन चिट दिए जाने के बाद भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, इस पूरी डील में सबसे बड़े घोटाले की बात कह रहे हैं. उनका आरोप है कि केंद्र की मोदी सरकार ने परोक्ष रूप से अनिल अंबानी की डिफेन्स कंपनी रिलायंस डिफेन्स को फायदा पहुंचाया है. वहीं विमानों की कीमत को लेकर भी बवाल छिड़ा हुआ है. कांग्रेस का आ...

लोकसभा चुनाव से पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया के सिर सजेगा मध्यप्रदेश की सत्ता का ताज?

देश भर के सर्द मौसम में पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के बाद लोकसभा चुनावों की गरमागरम राजनीति शुरू हो गई है. जहां एक तरफ आम चुनाव को देखते हुए सभी सियासी दल सक्रीय हो गए हैं, वहीं बीजेपी इन चुनावों से पहले तीन हिन्दी भाषी राज्यों में मिली सबसे बुरी हार का कलंक अपने माथे से हटाने की पुरजोर कोशिश करेगी. भाजपा के पुराने तोड़-मरोड़ पर नजर रखने वाले कुछ राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि मध्यप्रदेश (...

आम चुनावों से पहले किसानों को साधने के लिए मोदी सरकार ने चली सबसे बड़ी चाल

केंद्र की मोदी सरकार किसानों को साधने के लिए जल्द ही कुछ नई और लुभावनी योजनाओं की घोषणा कर सकती है. जिसके तहत किसानों को हर फसल पर 4000 रुपये तक देने की योजना बनाई जा रही है. ये पैसा सीधे किसानों के बैंक खाते में ट्रांसफर किया जाएगा. इसके अलावा सरकार प्रत्येक किसान को 1 लाख रुपये तक का ब्याज रहित लोन देने पर भी विचार कर रही है. बिज़नेस टुडे में छपी खबर के मुताबिक मोदी सरकार किसानों को डायरेक्ट बेनि...

छत्तीसगढ़ किसानों के खाते में आने लगे कर्जमाफी के पैसे..लेकिन सबसे जरूरतमंद किसानों को मिलेगा सिर्फ ठेंगा!

हाल ही में हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में तीन राज्यों मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कॉग्रेस पार्टी को भारी भरकम जीत हासिल हुई. इस जीत की सबसे बड़ी और मुख्य वजह किसानों की कर्जमाफी की घोषणा को बताया गया. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने चीख चीखकर इन राज्यों की जनता के सामने उनकी सरकार बनने के 10 दिन के भीतर किसान कर्जमाफी का ऐलान किया था. अपने घोषणा पत्र के वादों को पूरा करते हुए इन त...

#मेरा_Loan_माफ़ आम आदमी की कहानी !

मैं आम आदमी क्यों कहलाऊँ लाचार, मुझमें भी है शक्ति का अवतार! क्यों हर पहलु पर दूं मैं परीक्षा, क्या यही है मेरे जीवन की परिभाषा, क्यों न करू मैं किसी से आशा! क्यों हर बार मेरे काम को मिले ‘आम आदमी’ का नाम, क्या मुझमें नहीं है स्वाभिमान! पार कर यह चार दीवारी, जान चुका हूँ दुनिया सारी! अभी तक तो चुप था, पर अब नहीं बन कर रहूँगा लाचार! क्योंकि अब मैंने भी लिया साहस से काम, खड़ा हूं डटकर इस ...

बदहाली और पिछड़ेपन की मिसाल बन चुके बुंदेलखंड को कब मिलेगा घास की रोटी से छुटकारा

रामचरित मानस के रचयिता गोस्वामी तुलसीदास, मुगल शासक अकबर से लोहा लेने वाली रानी दुर्गावती, अंग्रेज़ों के नाक में दम करने वाली रानी लक्ष्मीबाई, राष्ट्रकवि मैथिली शरण गुप्त, हॉकी के जादूगर ध्यानचंद से लेकर भाजपा नेता उमा भारती और अभिनेता राजा बुंदेला तक न जाने कितनी ही ऐतिहासिक व जानी मानी शख़्सियतों ने बुंदेलखंड की धरती पर जन्म लिया. जिस बुंदेलखंड को इन महापुरुषों की धरती के नाम से पहचाना जाना चाहि...

किसानों का कर्ज माफ़ तो हमारा क्यों नहीं!

मध्यप्रदेश की नए नवेले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सूबे के मुख्यमंत्री पद का कार्यभार सँभालते ही सबसे पहले किसानों को कर्जमुक्त करने का काम किया है. कमलनाथ ने पहली फुर्सत में किसानों के कर्जमाफी वाली फ़ाइल पर हस्ताक्षर किए. हालांकि कर्जमाफी के प्रारूप का खुलासा नहीं किया गया है. कांग्रेस सरकार के इस सबसे बड़े वायदे के पूरा होने से प्रदेश के लगभग 30 लाख किसानों को फायदा पहुंचेगा. हम कमलनाथ सरकार के इस पहल ...

2019 में होंगे राहुल गांधी देश के अगले प्रधानमंत्री

हाल ही में समाप्त हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी ने शानदार प्रदर्शन करते भारतीय जनता पार्टी को करारी मात दी है। जिसके बाद बीजेपी को इन तीनों राज्यों राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीगढ़ की सत्ता से हाथ धोना पड़ा है। छत्तीसगढ़ में 15 सालों से राज कर रही भाजपा का सबसे खराब प्रदर्शन देखने को मिला। यहां पार्टी को 90 विधानसभा सीटों में महज 15 सीटें ही मिली। जबकि कांग्रेस ने एकतरफा...

खुदा जब वापस लेता है !

साहब बहादुर सुबह उठे। आंख खुलते ही चौंक गए। पीछे कोई बेड टी लेकर नहीं खड़ा था। आईने में खुद की सूरत देखी तो कुछ धुंधला सा लगा। वही घर, वही लोग फिर भी सबकुछ बदला हुआ था। उठकर लॉन में आए तो चाय रखी थी, अखबार थे, लेकिन उन पर से हाइलाइटर गायब थे। कोई उन्हें ब्रीफ करने के लिए बाजू में नहीं खड़ा था कि आज कहां-कहां, क्या हुआ है। किसने क्या बयान देकर बेड़ा गर्क कर दिया है, किसने तारीफ की है। न ही किसी ने ...

मोदी सरकार में अंधाधुंध कमाई करने वाले उद्योगपतियों को उठानी चाहिए किसानों के कर्ज की जिम्मेदारी!

‘अच्छे दिन….आने वाले हैं.’ पीएम मोदी साल 2014 में अपनी सरकार बनने से पहले लगभग सभी भाषणों में इस नारे का जाप करते दिखाई देते थे. इसके जरिये पीएम मोदी देश की जनता को ये भरोसा दिलाना चाहते थे कि अभी तक देश जिस महंगाई, गरीबी, भ्रष्टाचार और कालाधन के बुरे दौर से गुजर रहा था, वो अब ढ़लने वाले हैं और भाजपा सरकार आते ही देशवासियों और मुख्यरूप से किसानों के अच्छे दिन शुरू होने वाले हैं. क...

आज से नहीं आजादी के पहले से चला आ रहा किसानों का संघर्षपूर्ण आंदोलन

लोगों के बीच एक आम धारणा यही है कि आजादी की लड़ाई से लेकर अब तक भारतीय समाज में जो भी संघर्ष की स्थिति बनी, उसमे किसान समुदाय की कोई ख़ास ख़ास भूमिका नहीं रही है, लेकिन इतिहास के पन्ने उलटने पर कहानी इसके उलट नजर आती है. देश की आजादी की लड़ाई में जिन लोगों ने शीर्ष अगुआ की भूमिका निभाई उसमें आदिवासियों, किसानों और जनजातियों का अहम योगदान रहा था. 1857 ई. में हुए प्रथम स्वतंत्रता संग्राम को तो अंग्रेज़ो...

Lost Password