Add your advertisement code to the right of the logo on desktop displays.
Categories, unlike tags, can have a hierarchy. You might have a Jazz category, and under that have children categories for Bebop and Big Band. Totally optiona Categories, unlike tags, can have a hierarchy. You might have a Jazz category, and under that have children categories for Bebop and Big Band. Totally optiona Categories, unlike tags, can have a hierarchy. You might have a Jazz category, and under that have children categories for Bebop and Big Band. Totally optiona

Politics

नौकरी छोड़ी, जमीन बेंची..और फिर बने देश के सबसे अमीर किसान

सूखा! ऋण! बेमौसम बारिश! कम बाजार की कीमतें! इन सब बातों को देख तो यही लगता है कि भारतीय किसानों के जीवन में पीड़ाओं का कोई अंत नहीं है. शायद यही कारण है कि हम में से कोई भी नहीं चाहता कि हमारे बच्चे एक किसान बनें या खेती किसानी के क्षेत्र में अपने करियर की तलाश करें. इसके बजाए, हम सभी चाहते हैं कि वे खुद को कानून या चिकित्सा के फील्ड में आगे बढ़ाएं ताकि वह अपने सफल करियर की नींव रख सकें. लेकिन क्या ...

मोदी सरकार की ‘प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना’ के बारे में कितना जानते हैं आप

हमारे देश की लगभग 70 फीसदी आबादी पूर्णरूप से कृषि या इससे संबंधित उद्योगों पर टिकी हुई है. लिहाजा किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने कई योजनाएं बनाई हैं जिसमें एक है प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना (पीएमकेएसवाई) भी है. इस योजना की शुरूआत अगस्त 2017 में की गई थी, जिसका मुख्य उद्देश्य कृषि का आधुनिकीकरण करना और कृषि-बर्बादी को रोकना है. इस योजना के जरिये 20 लाख किसानों को लाभ पहुंचने ...

गायब होने से पहले संत गोपालदास ने केंद्र सरकार के खिलाफ क्या बोला?

“हरियाणा की वर्तमान सरकार ने संवेदनहीनता की पराकाष्ठा को पार कर दिया है. सरकार गंगा और गाय दोनों को एटीएम समझ रही है. जब चाहा दरवाजा खटखटा दिया और अंधी आस्था को पोलराइज कर दिया. इनकी बड़ी-बड़ी बातें केवल घोषणा पत्रों में दिखाई देती हैं. असल में कुछ भी नहीं है.” साल 2014 में जिन बड़े बड़े मुद्दों को सुलझाने की बात करते हुए मोदी सरकार सत्ता पर काबिज हुई थी उसमें एक ज्वलनशील मुद्दा गंगा सफा...

2022 में किस भारतीय चेहरे मे होगी दुनिया की दिग्गज शक्तियों के सामने टिक पाने की हिम्मत!

भारत 2022 में G20 समिट की मेजबानी करने वाला है. इस बात की पुष्टि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अर्जेंटीना के ब्यूनस आयर्स में आयोजित हुई इस साल की G20 समिट के बाद की. शनिवार को खत्म हुए इस दो दिवसीय समारोह में फैसला लिया गया कि 2022 में जब भारत अपनी आजादी की 75वीं सालगिराह मना रहा होगा तो उसी साल भारत को G20 समिट की मेजबानी भी करनी होगी. ध्यान रहे कि 2022 में G20 समिट की मेजबानी इटली को करनी थी. मो...

ट्रूपल डॉट कॉम करेगा कर्ज में डूबे पाकिस्तान की बदहाली को दूर…

– पाक पीएम इमरान खान के नाम संदेश – कर्ज से उबरने के लिए इंटरनेशनल डिजिटल न्यूज़ प्लेटफार्म का पाकिस्तान को खुला ऑफर – ट्रूपल डॉट कॉम ने पाकिस्तान के सामने रखी सशर्त आर्थिक मदद की पेशकश – अंडे-भैंसे बेचने के बजाए आतंकियों का सफाया करे पाकिस्तान और ट्रूपल डॉट कॉम से ले जाए कर्ज के पैसे चीन और अंतराष्ट्रीय संगठनों के भारी कर्ज तले दबी पाकिस्तानी अर्थव्यवस्था के मौजूद हालातों क...

कर्ज की पिच पर भैंसे और अंडे बेंच, पाकिस्तानी अर्थव्यवस्था में आखिर कितने छक्के जड़ पाएंगे इमरान खान?

कभी तो खाब सा लगता, कभी लगती हकीकत सी…मिली है जिंदगी मुझको ऐसे, कर्ज में डूबी वसीयत सी.. किसी अज्ञात शायर की कही ये पंक्तियां असल मायने में पाकिस्तान के चार महीने पुराने प्रधानमंत्री इमरान खान के मौजूदा हालत पर एक दम फिट बैठती है. वर्तमान में पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था में बदहाली का जो आलम है, वो उन्हें पिछली सरकारों से एक विरासत के रूप में ही मिला है. इस बात को कुबूल करते हुए खुद इमरान खान स...

क्या अब मंदिरों में होगें बजरंगबली जायसवाल, महादेव श्रीवास्तव और मां काली कपूर के दर्शन!

‘हम सबका संकल्प बजरंगी संकल्प होना चाहिए. बजरंगबली का संकल्प. बजरंगबली हमारी भारतीय परंपरा में एक ऐसे लोकदेवता हैं, जो स्वयं वनवासी हैं, गिरवासी हैं, दलित हैं, वंचित हैं, सबको लेकर के… सभी… पूरे भारतीय समुदाय को… उत्तर से लेके दक्षिण तक, पूरब से पश्चिम तक, सबको जोड़ने का कार्य बजरंगबली करते हैं. और इसलिए बजरंगबली का संकल्प होना चाहिए. राम काज किन्हें बिनु…’ उपरोक्त पंक्तियां उत्तर प्रदेश के सीएम य...

दुनिया की सबसे बड़ी पॉलिटिकल पार्टी का वजूद ख़त्म करने की राह पर पीएम मोदी!

कहते है कि जब प्रजातंत्र में किसी सरकार को अपनी पिछली सरकारों को कोसने और खुद की प्रशंसा करने का रोग लग जाए तो मान लेना चाहिए कि उसके पास उपलब्धियां गिनाने के लिए कुछ भी नहीं हैं. ऐसा कैसे? वो इसलिए क्योंकि जन कल्याण के लिए किये गए कार्य किसी प्रचार-प्रसार के मोहताज नहीं होते. जनता स्वयं ही उनका प्रचार करती है. लेकिन वर्तमान में देश की मोदी सरकार शायद विपक्षी दलों की बुराई करने और खुद की प्रशंसा क...

वायरल खबर- तो क्या शिवराज सिंह चौहान ने हार कुबूल कर, शुरू कर दी सीएम आवास छोड़ने की तैयारी!

  मध्यप्रदेश की 230 विधानसभा सीटों पर बुधवार सुबह 8 बजे से शुरू हुई मतदान प्रक्रिया शाम 5 बजे तक सफलता पूर्वक संपन्न हो गई. सिर्फ नक्सल प्रभावित बालाघाट जिले की 3 सीटों के लिए सुबह 7 से दोपहर 3 बजे तक वोटिंग प्रक्रिया को लागू किया गया. चुनाव आयोग ने प्रदेश के 52 ज़िलों में शांतिपूर्ण मतदान के लिए व्यापक इंतजाम किए थे. इस दौरान कुछ इलाकों से बीजेपी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच मामूली भिड़ंत ...

क्या करतारपुर के रास्ते अपना उल्लू सीधा करना चाह रहे इमरान खान !

इंदौर, ट्रूपल डॉट कॉम: पाकिस्तान की तहसील शकरगढ़ में स्थित सिखों का धर्म स्थान करतारपुर साहिब गुरुद्वारा आज भारत और पाकिस्तान की मीडिया में चारों तरफ छाया हुआ है. पाकिस्तान के नये प्रधानमंत्री इमरान ख़ान के शपथ ग्रहण में पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धु को पाकिस्तान के सेना प्रमुख जरनल क़मर जावेद बाजवा ने करतारपुर कॉरिडोर खोलने का भरोसा दिलाया था. लिहाजा इस पूरे मामले में सिद्धू का अहम कि...

मध्यप्रदेश का सियासी मूड बयां कर रहा ट्रूपल डॉट कॉम का डिजिटल सर्वे

भोपाल, छत्तीसगढ़ के बाद सियासी गतिविधियों की समीक्षा करने वाला देश का पहला डिजिटल प्लेटफार्म ट्रूपल डॉट कॉम, मध्यप्रदेश की सभी 230 विधानसभा सीटों पर राज्य के पहले महा सर्वे को अंजाम दे रहा है। ट्रूपल डॉट कॉम के डिजिटल सर्वे में राज्य के लाखों मतदाता बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं। संस्था अपने सर्वे के माध्यम से विधानसभा चुनावों के नज़रिये से बने प्रदेश के गर्म राजनैतिक माहौल में मतदाताओं का रुझान जानने ...

तो…मोदी-शाह की भाजपा में फिट नहीं बैठ रहीं सुषमा स्वराज!

ट्रूपल डॉट कॉम विशेष: भारतीय जनता पार्टी की कद्दावर नेता और केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने 2019 लोकसभा चुनाव न लड़ने का फैसला किया है. उन्होंने इस फैसले के पीछे अपने स्वास्थ्य कारणों का हवाला दिया है. हालांकि सुषमा का यह ऐलान कई मायनों में अप्रत्याशित लेकिन आपेक्षित मालूम पड़ता है. अप्रत्यासित इसलिए क्योंकि जहां वह एक ऐसी पार्टी से संबंध रखती हो जिसके 80 90 साल पुराने हो चुके नेता भी रिटायरमे...

Lost Password